Saturday, May 28, 2022

Buy now

इधर इमरान खान रूस पहुंचे, वहां इस्लामाबाद में इस बात पर मचा बवाल

पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) रूस के दौरे पर हैं. बीते 23 साल में किसी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का पहला रूस (Russia) दौरा है. मौजूदा तनाव को देखते हुए उनकी रूस यात्रा पर कई तरह के सवाल भी खड़े हो रहे हैं.
इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) रूस के दौरे पर हैं. बीते 23 साल में किसी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का पहला रूस (Russia) दौरा है. मौजूदा तनाव को देखते हुए उनकी रूस यात्रा पर कई तरह के सवाल भी खड़े हो रहे हैं. अमेरिका (US) ने भी इमरान खान के दौरे पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. इधर इमरान खान अपने मास्को दौरे पर कुछ अलग ही एक्साइटमेंट दिखा रहे हैं. वहीं अमेरिका ने पाकिस्तान को यूक्रेन (Ukraine) तनाव पर अपनी भूमिका से अवगत करा दिया है.

इस्लामाबाद में प्रदर्शन
एक ओर इमरान खान मास्को पहुंचे हैं. वहीं दूसरी ओर उनके घर में पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर जारी बवाल और बढ़ गया है. इस सिलसिले में उत्पादों और डीजल की कीमतों में भारी बढ़ोतरी से आहत इस्लामाबाद के निवासियों ने जमात-ए-इस्लामी के बैनर तले विरोध प्रदर्शन किया और कीमतों को वापस लेने की मांग की. मीडिया को संबोधित करते हुए स्थानीय निवासी मोहम्मद काशिफ चौधरी ने कहा कि जमात-ए-इस्लामी के नेता सिराज-उल-हक के आह्वान पर पूरे देश में पेट्रोलियम उत्पादों के दामों में बढ़ोतरी और नेताओं की बेशर्मी को लेकर धरना प्रदर्शन किया जा रहा है.

मनमानी का आरोप
प्रदर्शनकारियों ने कहा कि ऐसे समय में जब वैश्विक बाजार में पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें कम की जा रही थीं, पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में 12 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई, जबकि डीजल की कीमतें भी रात के अंधेरे में बढ़ीं. उससे पहले, बिजली की दरें एसएमपी के नाम पर बढ़ाए गए थे. ऐसे फैसले लेकर सरकार मनमानी पर उतर आई है.
इस्तीफे की मांग
प्रदर्शन की अगुवाई करने वालों ने ये भी कहा, ‘मुद्रास्फीति ने जनता के जीवन के हर क्षेत्र को प्रभावित किया है. उन्होंने देश के नेताओं से आग्रह किया कि यदि वे राष्ट्र को कोई राहत नहीं दे सकते हैं, तो वे इस्तीफा दे दें.’ वहीं एक अन्य निवासी जमील खोखर ने कहा कि यह उन नेताओं को बाहर निकालने का समय है, जिन्होंने आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी करके देश को तबाह कर दिया. उन्होंने कहा, लोगों को सड़कों पर उतरना चाहिए और ऐसे नेताओं का विरोध करना चाहिए. अगर हाल ही में पेट्रोलियम की कीमतों में बढ़ोतरी को नियंत्रित नहीं किया गया तो हम लोगों को एक साथ इकट्ठा करेंगे और एक बड़ा विरोध प्रदर्शन करेंगे ताकि इस फैसले को वापस ले लिया जाए.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,333FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles