Saturday, May 28, 2022

Buy now

हिजाब विवाद पर कर्नाटक के एजुकेशन मिनिस्टर बोले- मैं खुलकर कहता हूं, इसके लिए खास इस्लामिक संगठन जिम्मेदार

मैं खुलकर कहता हूं कि कर्नाटक में हिजाब विवाद के पीछे इस्लामिक संगठन सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी के एक विंग कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया का हाथ है। हमें इस बात के सबूत भी मिले हैं। उस संगठन के भड़काने का ही नतीजा है कि कुछ लड़कियां हिजाब के लिए आवाज बुलंद करने लगीं। पहले ऐसी मांग नहीं उठती थी। अचानक हंगामा होने लगा।’

ये कहना है कर्नाटक के एजुकेशन मिनिस्टर बीसी नागेश का, जो हिजाब विवाद पर लगातार मुखर हैं। वे इस पूरे प्रकरण में परोक्ष हाथ होने की भी बात कहते हैं, तो कभी स्पष्ट रूप से हिजाब विवाद को भड़काने के पीछे इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया की पॉलिटिकल विंग की साजिश मानते हैं।

पेश हैं हिजाब विवाद पर बीसी नागेश से भास्कर की खास बातचीत के प्रमुख अंश-

सवाल- आपने कहा, हिजाब कॉन्ट्रोवर्सी के पीछे हिडन हैंड है। आप यह अनुमान के आधार पर कह रहे हैं या फिर कोई क्लू आपको मिला?

जवाब- बिल्कुल हमारे पास क्लू है। स्टेट की पुलिस और दूसरी एजेंसी से हमें इस बात के सबूत मिले हैं। इसके पीछे एक इस्लामिक संगठन की पॉलिटिकल पार्टी है। मैंने नाम भी खुलकर लिया।

सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के तहत चलने वाला कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया। यह विवाद एक महीने से चल रहा है। हंगामा तो अचानक हुआ न। कुछ लड़कियां हिजाब की मांग करने लगती हैं। पहले तो ऐसी मांग नहीं की। कुछ लोग हैं इस पूरे मामले को भड़काने के पीछे।

सवाल- अगर आपके पास क्लू है तब तो फिर सरकार इन्वेस्टिगेशन शुरू कर चुकी होगी?

जवाब- मैं एजुकेशन मिनिस्टर हूं। ऐसे मामलों में इन्वेस्टिगेशन के लिए गृह मंत्रालय से आदेश जरूरी है। मैं राज्य के मुख्यमंत्री और गृहमंत्री से मिला था। मैंने उनसे इस बारे में बात की। इन्वेस्टिगेशन की सलाह भी दी है। इन्वेस्टिगेशन शुरू हो चुका है। इससे पहले हमारा ध्यान हिंसा को बढ़ने न देने पर है। स्टूडेंट्स अनुशासन में आएं, फिर व्यापक टीम बनाकर इन्वेस्टिगेशन को तेजी दी जाएगी।
सवाल- क्या केंद्र से भी इस बारे में बात हुई। आपके इस इनपुट को राज्य सरकार ने केंद्र से साझा किया?

जवाब- मुझे इस बारे में पक्के तौर पर कुछ पता नहीं, लेकिन शायद राज्य के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने दिल्ली में केंद्र के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात की है।

सवाल- यह विवाद उग्र हिंसा की तरफ बढ़ रहा है। दंगों की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता, सरकार इसे रोकने के लिए क्या कर रही है?

जवाब- हम बिल्कुल भी दंगे नहीं होने देंगे। पूरा मामला कंट्रोल में है। हमने 3 दिन के लिए स्कूल बंद कर दिए हैं। कितनी भी बड़ी ‘साजिश’ हो, हम इसे कामयाब नहीं होने देंगे। प्रशासन चौकन्ना है।

सवाल- आपको नहीं लगता कि हिजाब पहनना संविधान में मिली धार्मिक स्वतंत्रता के तहत आता है?

जवाब- कर्नाटक एजुकेशन एक्ट 2013 और 2018 एजुकेशनल इंस्टीट्यूट को यह अधिकार देता है कि वह अपने यहां ड्रेस कोड निर्धारित कर सके। स्कूलों को लेकर हमारी पॉलिसी स्पष्ट है। स्कूल आएंगे, तो उस एजुकेशनल इंस्टीट्यूट के यूनिफार्म को आपको पहनना ही होगा, वर्ना आप विकल्प खोज सकते हैं। बाकी मामला अभी कोर्ट में है। फैसला आने दीजिए।

सवाल- हिजाब लगाए एक लड़की को कुछ लड़के घेरकर जय श्रीराम का नारा लगवाने का दबाव बनाते हैं। उन लड़कों के खिलाफ कार्रवाई कब होगी?

जवाब- हमने स्कूल और कॉलेज के 200 मीटर के दायरे पर भीड़ के लिए नो एंट्री जोन बना दिया है। रही बात लड़की को घेरने की तो यह बिल्कुल गलत है।

आप वीडियो में देखिए लड़के दूर खड़े हैं। लड़की घिरी हुई नहीं है, लेकिन एजुकेशन मिनिस्टर होने के नाते मैं सख्ती से कहता हूं। न तो ‘अल्लाह हू अकबर’ के नारे बर्दाश्त किए जाएंगे और न ही ‘जय श्रीराम’ के। हमने कहा न कि हिजाब मामले पर डीटेल्ड इन्वेस्टिगेशन होगा। हम इस मामले की साजिश की तह तक जाकर रहेंगे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,333FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles