Saturday, May 28, 2022

Buy now

शेन वार्न ने कहा- 1000 विकेट लेंगे ये 2 स्पिनर, मेरा और मुरलीधरन का रिकॉर्ड तोड़ देंगे

नई दिल्लीः ऑस्ट्रेलिया के महान स्पिनर शेन वार्न ने एक चौंकाने वाली बात की है। वार्न को यह उम्मीद है कि भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन उनके 708 विकेट लेने के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे।
यह अपने आप में बहुत बड़ी उम्मीद है क्योंकि रविचंद्रन अश्विन पहले से ही 35 साल के हैं और अगर उनको शेन वार्न का रिकॉर्ड तोड़ना है तो लगातार क्रिकेट खेलना होगा और साथ ही विदेशी धरती पर भी विकेट लेने होंगे जिसमें वे हाल ही में बुरी तरह नाकाम रहे हैं। रविचंद्रन अश्विन भारतीय पिचों पर किसी कहर से कम नहीं है और वे कपिल देव के 434 टेस्ट विकेट्स केवल चार कदम ही पीछे हैं लेकिन फिर भी लगता है वार्न ने यह दावा करने में भावनाओं को अधिक प्राथमिकता दी है क्योंकि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के ही नाथन लियोन के लिए भी यही उम्मीद जताई है जो इस समय 415 टेस्ट विकेट ले चुके हैं।

1000 विकेट लेंगे ये स्पिनर-

शेन वार्न ने हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए कहा कि, मैं उम्मीद करता हूं अश्विन और नाथन लियोन यह रिकॉर्ड (वार्न और मुरलीधरन दोनों का) तोड़ देंगे।

वार्न ने इन दोनों ही खिलाड़ियों की मौजूदा उम्र और उनके विकेट लेने की काबिलियत की बजाय टेस्ट क्रिकेट में अच्छे स्पिनरों और बल्लेबाजों के बीच के रोमांचक संघर्ष पर अधिक फोकस किया है। उनका मानना है कि जब कोई तेज गेंदबाज बहुत फास्ट बोलिंग करता है और बल्लेबाज उसको झेलता है, और फिर एक क्वालिटी स्पिनर आता है जो बल्लेबाज के साथ अलग किस्म का युद्ध शुरू कर देता है तो उस मैच का रोमांच एक अलग ही स्तर पर पहुंच जाता है और यह चीजें टेस्ट क्रिकेट को काफी रोमांचक बनाती हैं। वार्न कहते हैं कि, इसलिए मैं उम्मीद करूंगा कि अश्विन और नेथन लियोन 1000 टेस्ट विकेट हासिल करें क्योंकि यह बहुत ही मजेदार होगा।
आपको बता दें भारतीय पिचों पर रविचंद्रन अश्विन अभी भी अपने चरम पर है लेकिन वह भारत के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले स्पिनर अनिल कुंबले का भी रिकॉर्ड तोड़ने से कोसों दूर हैं। अनिल कुंबले ने भारत के लिए खेलते हुए 619 विकेट अपने नाम किए हुए। सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने का रिकॉर्ड श्रीलंका के महानतम और बॉलिंग एक्शन के चलते उतने ही विवादापस्द गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन के नाम है जिन्होंने 800 टेस्ट विकेट हासिल किए हुए हैं। अश्विन के बारे में बात करते हुए वार्न कहते हैं, अश्विन समय के साथ और भी बेहतर होते जा रहे हैं वे जबरदस्त रहे हैं। किसी भी क्रिकेटर का असली टेस्ट तब शुरू होता है जब वह घर के बाहर खेलता है। मैं अश्विन का बहुत बड़ा फैन हूं। मुझे लगता है कि वह हमेशा कुछ न कुछ अलग हटकर कोशिश करते रहते हैं।
वार्न ने भले ही यह कहा है कि अश्विन 1000 विकेट लेंगे और किसी भी बॉलर का टेस्ट विदेशी धरती पर होता है लेकिन अश्विन इसी मोर्चे पर ही मात खा चुके हैं। सच यह है कि भारत रविचंद्रन अश्विन को दक्षिण अफ्रीका में एक ऐसे खिलाड़ी के तौर पर खिलाता रहा जो टीम के ना बल्ले से काम आया और ना ही गेंद के और इस फेर में भारतीय टीम केवल 10 खिलाड़ियों की एक टीम बन कर रह गई। भले ही दक्षिण अफ्रीका की परिस्थितियां स्पिनरों के अनुकूल नहीं थी लेकिन एक अच्छे स्पिनर का काम किसी भी स्तर पर बल्लेबाज को परेशान करना होता ही है लेकिन अफ्रीका में पिच से मदद क्या नहीं मिली, अश्विन एक-एक विकेट के लिए तरसते हुए दिखाई दिए।

भारत की समस्या यह है कि यजुवेंद्र चहल और कुलदीप यादव जैसे गेंदबाजों का भी तेजी से पतन हो रहा है लेकिन शेन वार्न यह बात भी मानने के लिए तैयार नहीं है। उनका कहना है भारत के पास अश्विन और जडेजा जैसे दो गजब के बॉलर हैं ऐसे में कुलदीप यादव और चहल के लिए जगह मिली मुश्किल है भले ही यह दोनों कितने भी गजब के खिलाड़ी हों।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,333FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles